Thursday, 19th July, 2018

भगवान शिव बोले हर हर मोदी नारे से उन्हें कोई दिक्कत नहीं

29, Mar 2014 By बगुला भगत

भारत में आज दोपहर ढाई बजे अचानक भगवान शिव ओपनली सबके सामने प्रकट हो गए। शिव के प्रकट होते ही पूरी दुनिया में तहलका मच गया। खचाखच भरे प्रेस क्लब में पत्रकारों को अपने आने की वजह बताते हुए भगवान शिव ने कहा कि “मैं तुम्हारी भक्ति से प्रसन्न होकर दर्शन-वर्शन देने नहीं आया। तुम लोगों ने मुझे प्रकट होने पर मजबूर कर दिया। मैं ये कहने आया हूं कि मुझे हर-हर मोदी वाले नारे से कोई प्रॉब्लम नहीं है और इससे मेरा कोई अपमान नहीं हुआ है।”

Narendra Modi
“क्या हो रहा है ये सब?”

पत्रकारों के सवालों से घबराए दिख रहे भगवान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करने की वजह बताते हुए कहा कि “जब मैं घाट पे उतरा, तो वहां मुझे एक आदमी मिला, उसने मुझसे पूछा कि क्या आप टि्वटर या फ़ेसबुक पर हैं? मैंने कहा, नहीं, मैं तो सिर्फ़ पहाड़ों पर हूं, तो उसने कहा कि फिर तो आपको प्रेस कॉन्फ्रेंस ही करनी पड़ेगी।” जब फ़ेकिंग न्यूज़ ने पूछा कि “क्या आप मोदी का समर्थन करेंगे, इस पर भोलेनाथ ने हंसकर कहा “मैं अन्ना की तरह किसी का भी समर्थन नहीं करुंगा।”

इस चमत्कार के बाद देश के अनेक हिस्सों से बीजेपी के समर्थकों की खुशी के मारे पागल होने की ख़बरें आ रही हैं। बीजेपी के ‘लगभग’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी समर्थकों से वोट डालने तक पागल ना होने की अपील की है। उन्होंने लगे हाथों कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि “भाईयों-बहनों, पिछले साठ साल में एक बार भी भगवान आए क्या? मैं पूछता हूं, आए क्या? भाईयों-बहनों, अभी तो मैं सिर्फ़ उम्मीदवार ही बना हूं। सोचो, अगर मैं पीएम बन गया तो ऐसे कितने चमत्कार होंगे!”

इस बीच, सभी पार्टियों में इस चमत्कार का श्रेय लेने की होड़ मच गई है। कांग्रेस के प्रवक्ता राजीव शुक्ला ने कहा कि “हमने हर-हर मोदी वाले नारे पर इतना ऑबजेक्शन किया कि उसका शोर स्वर्ग तक पहुंच गया।” मुलायम सिंह यादव ने दावा किया कि “सबसै पहलै हवनै ई कई थी कै वीजैपी भगवान की इंसल्ट कर रई है।” हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए सतपाल महाराज ने आंख मूंदकर ध्यान लगाते हुए सिर्फ़ इतना कहा “चमत्कारी, बहुत ही चमत्कारी!”

आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल ने कहा कि “मैंने खुद जांच कर ली है कि भगवान के भेस में वो अंबानी का आदमी है।” बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अफ़सोस जताते हुए कहा कि “वे सचमुच भोले बाबा हैं! उन्हें पता ही नहीं है कि उनका अपमान हुआ है। हम उन्हें समझाएंगे कि वे अनजाने में सांप्रदायिक ताकतों का साथ दे रहे हैं।”

उधर, टीवी पर ब्रेकिंग न्यूज़ देख-देख कर हज़ारों नेता शिव के गले में लिपटे नाग के लिए दूध लेकर निकल पड़े हैं। लेकिन प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि “शिव के गले में नाग ही नहीं है। वे नेता ये दूध खुद ही पी लें।” वहीं दूसरी ओर, बहुत सारे नेता भगवान के चरणों में भांग के गोलों का भोग लगाने के लिए लाइन लगाए खड़े हैं। चश्मदीद लोगों ने यह भी कहा कि “भोलेनाथ देखने में वैसे बिल्कुल नहीं लगते, जैसे सीरियलों में या कैलेंडरों में दिखाए जाते हैं।”