Saturday, 21st September, 2019

कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह की सर्ज़री की माँग मानी: जल्द ही होगी दिग्विजय सिंह के दिमाग की सर्ज़री

22, May 2016 By Gaurav Mittal

नई दिल्ली. हाल ही में कांग्रेस ने पांच राज्यो के चुनाव में करारी हार का सामना किया और इसके चलते कांग्रेस का राज कुछ छोटे मोटे राज्यों में सिमट कर रह गया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने इस पर चिंता जताते हुए कह दिया कि “कांग्रेस को सर्ज़री की जरुरत है”। इस बात को गंभीरता से लेते हुए कांग्रेस ने उनके दिमाग की सर्ज़री करवाने का फैसला लिया है।

दिग्विजय सिंह कुछ भी ऊल जलूल बोलने के लिए विश्व विख्यात है। उन्हें बकवास करने में कोई नहीं पिछाड़ सकता। कांग्रेस का मानना है कि उनके दिमाग की सर्ज़री से उनका बकवास करना कम होगा और कांग्रेस फिर से जितने लगेगी।

“मेरे दिमाग़ की सर्जरी हो रही हैं. आप भी लगे हाथ लगवा लीजिए दिमाग़”, दिग्विजय सिंग उनके राहुल बाबा को सीक्रेट सलाह देते हुए।

ये अहम फैसला एक बैठक में लिया जो पांच राज्यों में हारने के बाद कांग्रेस के दिग्गज नेता लोगो के बीच हुई। 10 जनपथ पर देर रात हुई ये बैठक करीब 10 मिनट तक चली।

फैसले की जानकारी देते हुए मनीष तिवारी ने बताया, “बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि हम क्यों हारे? लेकिन किसी को भी ये समझ नहीं आ रहा है कि कांग्रेस की हालत वेस्ट-इंडीज की क्रिकेट टीम के जैसे कैसे हो गई? लेकिन हमे कुछ तो करना होगा नहीं तो ऐसे हमे सरकारी गेस्ट हॉउस मिलने भी मुश्किल होंगे इसलिए हमने दिग्विजय सिंह की सलाह को मानते हुए सर्ज़री करने का निर्णय लिया है। जल्द ही दिग्विजय सिंह के दिमाग की सर्ज़री कराई जाएगी”।

जब एक पत्रकार ने पुछा कि इतना बड़ा फैसला 10 मिनट में कैसे हो गया तो मनीष ने बताया, “देखिए हम मई 2014 से चिंतन कर रहे है, आप ये नहीं कह सकते कि 10 मिनट में निर्णय कर लिया”।

एक अन्य सवाल में जब उनसे पुछा कि क्या बैठक में राहुल गांधी भी थे और उनके क्या विचार थे, मनीष ने बताया “हाँ, राहुल जी भी थे लेकिन उन्होंने कुछ नहीं बोला। वो पुरे समय हैडफ़ोन लगा के संगीत सुनने में मग्न थे। इतने छोटे मुद्दे पर राहुल जी का बोलना उनके कद को छोटा करना है। बाकी सभी नेता ने एक सुर में दिग्विजय सिंह की बात का समर्थन किया और उनके दिमाग की सर्ज़री को अनुमति दे दी।”

कांग्रेस के इस फैसले से दिग्विजय सिंह काफी खुश है। बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, “मेरी बात हमेशा सुनी और मानी जाती है। कांग्रेस ने मेरी बात को गम्भीरता से लिया इसके लिए मैं खुश हूँ। इस सर्ज़री से कांग्रेस का भला होगा”।

सुब्रमण्यम स्वामी ने इस घटनाकर्म पर चुटकी लेते हुए कहा, “दिमाग की सर्जरी का फैसला सही है लेकिन आदमी गलत चुना है”। शायद उनका इशारा राहुल की तरफ था।