Sunday, 16th December, 2018

एक प्राइवेट कर्मचारी ने लिखी किताब, बिज़नस कैसे करें

22, May 2018 By MeHonestPerson

कुछ भी हो जाने के इस दौर में एक नयी चीज़ हुई है,कोई भी अपने को लेखक समझने लगता है और दुसरे की एनालिसिस करने लग जाता है.

तो आज हमारे रिपोर्टर नारद मुनि एनालिसिस करेंगे जुपिटर मोदी के बारे में जिन्होंने सब को उस वक़्त हैरान कर दिया जब उन्होंने अपनी किताब ‘बिज़नस कैसे ‘करें का उद्घाटन तो किया पर उस समय PM को भी बुलाता,कहा मुझे pm से प्रेरणा मिली है.

Lunch and sleeping from Office; Work from home

पता चला है की उसके बॉस ने उसे सीईओ बना दिया है और खुद रिजाइन कर दिया है.

२ महीने पाहिले ही उसके बॉस ने भी ऐसी ही बुक लिखी थी ,जिसके बाद उसको बॉस बना दिया था.

अब शोध कर्ताओं का मानना है की जॉब पाने के लिए सब को बुक लिखनी चाहिए,त्रिपुरा के cm ने भी इसका समर्थन किया.

उन्होंने बताया की अब बुक लिखने के लिए नॉलेज होना जरूरी नही है और बुक छपने का पूरा खर्चा त्रिपुरा की सरकार देगी,पर अगर बुक नही बिकती है तो प्रधान मंत्री रिलीफ फण्ड से उसकी भरपाई भी की जाएगी.

साथ ही हमारी 3सरी फ़ैल एजुकेशन मंत्री ने बुक राइटिंग कॉलेज ऑफ़ कानपूर की स्थापना करने का ऐलान किया है,जो अगले 100000000000000000000000 सालों में बनकर लगभग शायद तैयार हो जायेगा उसके बाद इसको आगे बढ़ता हुए देश के हर गाँव में ऐसे कॉलेज खोले जायेंगे लो लगभग ढाई लाख गावों में अगले 2.5 lakh x 100000000000000000000000 सालों में बन कर तैयार हो जायेंगे और छात्रों का  क अच्छा भविष्य सुनिषित हो जायेगा.

हमारी दुआएं उन छात्रों के साथ है.

बेचारे

त्रिकाल न्यूज़