Saturday, 15th December, 2018

हमें 'भारत में' नहीं बल्कि 'भारत से' सुरक्षा चाहिये लेकिन यहां नहीं, पाकिस्तान मेंः आफ़रीदी

15, Mar 2016 By बगुला भगत

कोलकाता. पाकिस्तान टी-20 टीम के कप्तान कन्हैय्या शाहिद आफ़रीदी ने कहा है कि “हमें भारत में सुरक्षा नहीं चाहिये बल्कि भारत से सुरक्षा चाहिये। अगर मोदी जी ने अपने लड़के जवान हमारे साथ पाकिस्तान नहीं भेजे तो इंशाअल्लाह हम वापस नहीं जायेंगे!”

आफ़रीदी ने बात को खोलकर समझाते हुए कहा कि “आप लोग समझ रहे थे कि हम यहां आने से डर रहे हैं। असल में, हमें ख़तरा यहां नहीं, उधर अपने देश में है इंशाअल्लाह!”

Afridi3
वर्ल्ड कप के बाद भारत में अपने छुपने की जगह का मुआयना करते आफ़रीदी

“लेकिन आपके यहां भी तो सेना और पुलिस है”, यह सुनते ही आफ़रीदी अपने दोनों कानों को छूते हुए बोले- “इंशाअल्लाह इंशाअल्लाह! सबसे पहले वो ही भागते हैं और कई बार तो भीड़ के साथ मिलकर हमें कूटते भी हैं।”

कोलकाता में टीम के साथ डेरा डाले पीसीबी के सिक्योरिटी एडवाइज़र मोहम्मद आज़म ख़ान का भी मानना है कि “अब लड़कों का उधर लौटना सेफ़ नहीं है और लाला की जान के तो लाले समझो! अब तो इसकी जान तभी बचे, जब ये भारत को हराये, नहीं तो अल्लाह ही मालिक है इंशाअल्लाह!”

“और ऊपर से ये कोर्ट केस भी तो हो गया। तुम्हारे वकीलों की तरह उधर हमारे वकील भी अब तैय्यार खड़े मिलेंगे।” -आज़म ख़ान ने कहा।

जब उनसे पूछा गया कि “लेकिन आफ़रीदी ने ऐसा बयान दिया ही क्यूं?” तो उन्होंने कंधे उचकाते हुए कहा- “पता नहीं, बंदे के दिल में क्या है। शोएब मलिक का साढ़ू बनना चाहता है, बॉलीवुड में हीरो बनना चाहता है, आईपीएल खेलना चाहता है या जेएनयू में एडमिशनल लेना चाहता है। पता नहीं क्या करना चाहता है। अल्लाह ही जाने इंशाअल्लाह!”

इस बीच, फ़ेकिंग न्यूज़ को अपने सूत्रों से पता चला है कि आफ़रीदी ने शरणार्थी वीज़ा के लिये अप्लाई भी कर दिया है। और जब तक उन्हें वीज़ा नहीं मिलेगा, तब तक वो हैदराबाद में शोएब मलिक की ससुराल में पड़े रहेंगे। 25 मार्च को मोहाली में अपना आख़िरी लीग मैच खेलते ही वो हैदराबाद निकल लेंगे, जिसके लिये ऑलरेडी फ़्लाइट भी बुक करा ली है।