Thursday, 18th October, 2018

'जिओ इंस्टिट्यूट' करवाएगा 'आदर्श पति' और 'आदर्श दामाद' का कोर्स

19, Sep 2018 By Feminist: To Be or Not to Be

देश भर में ‘जिओ इंस्टिट्यूट’ के ‘वर्ल्ड क्लास’ होने की चर्चा गर्म है| हाल ही में भारत की कई यूनिवर्सिटीज़ ने लड़कियों के लिए शादी और उसके बाद के जीवन से निपटने के लिए कई कार्यक्रम चलाने की घोषणा की है| लेकिन लड़कों के लिए ऐसी कोई कोर्स लड़कों के लिए नहीं रखा गया है| लड़कों के साथ हो रही इस नाइंसाफी का मुहतोड़ जवाब जिओ इंस्टिट्यूट ने दिया है| ‘आदर्श पति’ और ‘आदर्श दामाद’ जैसे कोर्स अब जिओ के पाठ्यक्रम में शामिल होंगे|

चेहरा तो एकदम दामादुना है!
चेहरा तो एकदम दामादुना है!

माननीय प्रधानमंत्री ने अपने व्यक्तिगत अनुभवों को ध्यान में रखते हुए इस कोर्स का पाठ्यक्रम निर्धारित किया है| उन्होंने कहा कि यदि इस तरह का कोई कोर्स उनके समय में चलाया गया होता तो वो भी एक आदर्श पति बनकर दिखाते| उन्होंने अफ़सोस जताते हुए कहा ” काश मेरी शाखा में इस तरह का कोई कोर्स होता, बहुत सारे युवा एक सुखी वैवाहिक जीवन का आस्वाद कर पाते| “मुकेश अम्बानी से हुई उनकी इस बातचीत ने देश को एक सकारात्मक दिशा प्रदान की है| देश के इतिहास में इसे स्वर्णाक्षरों से अंकित किया जायेगा|

लड़कों को पत्नी की बात ध्यान से सुनने का प्रशिक्षण इस कोर्स में दिया जायेगा| एकाग्रता बढ़ाने के लिए योग की सहायता ली जाएगी| बाबा रामदेव ने अपना पूरा सहयोग देने का विश्वास दिलाया है| इसके साथ साथ लड़कों को बल्ब लगाने, चाय बनाने, फ्रिज, गीज़र, टोस्टर आदि इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल करने की ट्रेनिंग दी जाएगी| जन्मदिन, शादी की सालगिरह , पत्नी की पसंद नापसंद, याद रखने के लिए मेमोरी ट्रेनिंग भी होगी| जिस तरह ‘आदर्श बहु’ कोर्स में लड़कियों को लड़के के घरवालों की उटपटांग बातों से निपटना सिखाया जायेगा ,उसी तरह  लड़कों को भी लड़की के रिश्तेदारों के उल जलूल सवालों की सूची मज़ेदार जवाबों के साथ दी जाएगी| जिओ इंस्टिट्यूट की शोध टीम ने बताया “शादी के बाद हर लड़के और लड़की को रिश्तेदारों और उनके घिसेपिटे सवालों का सामना करना पड़ता है| हमने हर संभव सवाल के जवाब तैयार कर लिए हैं|”

जिओ इंस्टिट्यूट का यह सार्थक प्रयास उसे वाकई में “इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस” सिद्ध करता है| फेकिंग न्यूज़ की पूरी टीम उनके इस प्रयास में उनके साथ है|



Related