Wednesday, 13th November, 2019

केजरीवाल को दी बी.सी.सी.आई. ने बड़ी ज़िम्मेदारी, परखेंगे खिलाडियों की बॉडी लैंग्वेज

12, Jan 2015 By किल बिल पांडे

हाल ही में अपनी वर्ल्ड कप टीम में कुछ चौंका देने वाले खुलासे करने के बाद  बी.सी.सी.आई. ने अरविन्द केजरीवाल को बड़ी ज़िम्मेदारी सौंपते हुए भारतीय क्रिकेट टीम के सपोर्टिंग स्टाफ में मुख्य बॉडी लैंग्वेज अनेलाइज़र के तौर पर नियुक्त करने का फैसला किया है । अरविन्द आगामी त्रिकोणीय श्रंखला से पहले टीम से जुड़ेंगे ।

ये फैसला उस समय आया है जब भारतीय टीम विदेशी दौरे पर जीत के लिए कड़ा संघर्ष कर रही है । बी.सी.सी.आई. प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि कोर कमेटी की बैठक में ये फैसला केजरीवाल के क्षण भर में बॉडी लैंग्वेज को परख कर तुरंत नर्वसनेस भांप लेने की अभूतपूर्व क्षमता को देखते हुए लिया गया है । अरविन्द टीम के हर प्रैक्टिस सेशन के साथ-साथ मैच के दौरान ड्रेसिंग रूम में भी में मौजूद रह कर खिलाडियों की बॉडी लैंग्वेज को परख  उनकी नर्वसनेस का मूल्यांकन कर टीम की रणनीति बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देंगे।

नर्वसनेस अब छुप नहीं सकती

कोच डंकन फ्लेचर ने फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि पूरी टीम उनके साथ काम करने को लेकर उत्साहित है । मैच शुरू होते ही अरविन्द द्वारा तैयार की गए विपक्षी टीम के नर्वसनेस स्टेटस के आधार पर ही उसके सामने परिस्थिति अनुकूल खिलाडियों को उतारा जाएगा ताकि मौके का भरपूर फायदा उठाया जा सके। इस पूरी प्रक्रिया से बैटिंग आर्डर में बड़े बदलाव आने की सम्भावना है। सूत्रों की माने तो कभी किसी से न डरने वाले और हर बॉल पर बल्ला घुमाने वाले कुछ टेलएंडर्स को मध्य क्रम में बड़ी ज़िम्मेदारी मिल सकती है ।

क्रिकेट जानकारों का मानना है कि ऐन वर्ल्ड कप से पहले यह महत्वपूर्ण बदलाव कहीं टीम पर ही भारी न पड़ जाए क्योंकि आम तौर पर खुलासा करने के लिए मशहूर अरविन्द  जज्बाती होकर भारतीय टीम के नर्वसनेस स्टेटस के आधार पर चयन प्रक्रिया पर सवालियानिशान लगा कहीं जांच की मांग न कर बैठे । साथ ही ड्रेसिंग रूम में उनकी मौजूदगी आई.पी.एल. से जुड़े बड़े खुलासो का कारण भी बन सकती है ।

ऐलान होते ही आप समर्थकों ने  इंस्टेंट सर्वेक्षणों के आधार पर “मुख्य बॉडी  लैंग्वेज अनेलाइज़र” के रूप में अरविन्द को पूरी दिल्ली की पहली पसंद बताया हालाँकि इस रेस में और कौन कौन शामिल था इसका खुलासा नहीं हुआ है । पूरे मामले पर  अरविन्द केजरीवाल का अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है, पार्टी प्रवक्ता के अनुसार वह ऑनलाइन शौपिंग में मफलर पर लगी सेल में व्यस्त होने के कारण ऐसा नहीं कर पाए है ।