Saturday, 20th October, 2018

खुलेंगी पकौड़े की दुकानें... मोशा भाई करेंगे उद्घाटन

19, Mar 2018 By chupparustam

लखनऊ, उप्र. क्या कहते हैं…. गोरखपुर, फूलपुर और अररिया में पकौड़े की दुकानें खुलेंगे। जी हाँ, सही सुन रहें हैं. उत्तरप्रदेश और बिहार उपचुनाव के आये नतीजों के बाद, पार्टी के प्रदर्शन की समीक्षा के उपरांत, केंद्रीय कारकारणी मंडल ने यह निर्णय लिया हैं कि भाजपा के हारे हुए प्रत्याशियों को पकौड़े की दुकाने खुलवायी जाएंगी। समीक्षक मंडल ने बताया कि यह निर्णय प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय दृष्ट्रिकोण को केंद्र में रखते हुए लिया गया है.

पार्टी की करारी शिकस्त की भरपाई करारे-करारे पकौड़े छान कर करने प्रयास किया जायेगा. चर्चा में इस बात पर भी सहमति बनी कि प्रधानमंत्री के पकौड़े पराक्रम में महशूर उद्योगपतियों अम्बानी और अडानी से सहयोग लिया जायेगा. पकौड़ा उद्योग को बढ़ावा देने के लिए नीरव व् माल्या से सहयोग कि अपेक्षा कि गई है. चर्चा में उपस्थित सदस्यों ने आशा जतायी कि भले ही नीरव व् माल्या विदेश में रहकर विदेशी मदिरा का पान करें लेकिन चखना (पकौड़े) तो उनको देसी लेनी चाहिए। इससे वो राष्ट्र के विकास में अपना सहयोग जारी रखेंगे।

समीक्षा मंडल के अध्यक्ष ने कहा है कि यह प्रयोग 2019 के आम चुनाव को भी ध्यान में रखकर किया जा रहा है. ताकि अनुमान के विपरीत परिणाम आने पर पराजित उम्मीदवारों को समुचित रोज़गार मिल सके. उन्होंने यह भी कहा है कि पार्टी देश में जगह जगह पकौड़ा कार्यशाला आयोजित कि जाएगी जिसमे पार्टी के वफ़ादार ट्रोल्स जो नव-बेरोज़गार हो जायेगे, उन को पकौड़े बनाने में प्रशिक्षित किया जायेगा. पार्टी मानती हैं कि ट्रोल्स को रोज़गार मुहैया कराना उनका नैतिक कर्तव्य हैं. मंडल के एक सदस्य ने पकौड़ित हो कर कहा कि पकौड़े की दुकान व् कार्यशालाओं का उद्घाटन स्वयं मोशा भाई (मोदी जी एवं शाह जी) अपने कर-कलमों से करेंगें.

बाबा रामदेव ने पार्टी के इस निर्णय की प्रसंसा करते हुए कहा है कि भाजपा के नेतृत्व में ही यह संभव है कि भारत पिज़्ज़ा का जबाव पकौड़े से दे सकता हैं. उन्होंने यह आशा जतायी कि भाजपा अपने पकौड़े की दुकानों पर पतञ्जलि के ही बेसन का प्रयोग करेंगे.