Wednesday, 23rd October, 2019

मुर्गी और बकरी दिलवाएँगे इमरान खान को नोबेल पुरस्कार

05, Apr 2019 By akumar

पाकिस्तान ने इमरान खान का नाम नोबेल शांति पुरस्कार के लिए भेजा था. पाकिस्तान को तुरंत जवाब भी मिल गया था. नोबेल कमिटी ने अपने पत्र में सब कुछ कह डाला. लेकिन पाकिस्तान में ये खबर फैल गई हैं कि नोबेल वालों ने लगभग मना कर दिया हैं.imran khan pakistan

इमरान खान बहुत खेलों के खिलाड़ी रह चुके हैं. वर्ल्ड कप और टिकाऊ शादी के लिए उन्होंने तीन-चार कोशिश की थी. रिटायरमेंट के बाद भी दोनों फील्ड में एक बार लौटे. तभी जाकर सफलता हाथ लगी. उन्होंने नयी चाल चल दी हैं. इस बार नोबेल उन्हीं को मिलने की उम्मीद पक्की हैं. नोबेल शांति पुरस्कार की माँग में पाकिस्तानी फ़ौज भी शामिल थी. अनुमान ये है कि इसी कारण से इमरान पीछे रह गए. इस बार के खेल में पाकिस्तान की औरतेँ भी शामिल हैं.

दो दिन पहले इमरान ने गाँवों की औरतों के साथ चर्चा किया था. ये वादा किया कि हर औरत को देसी मुर्गी और बकरी दी जाएगी. अंडे और दुध बेचकर गाँव की औरतेँ मालामाल हो जाएँगी. इससे पाकिस्तान दुनिया का धनी देश हो जाएगा. देश को IMF और चीन पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा.

इतना सुनने पर पाकिस्तान में “लीडर हमारा इमरान, नया बनेगा पाकिस्तान” के नारे लगने लगे हैं. कुछ लोगों ने फिर से नोबेल कमिटी को अपनी माँग भेज दी हैं. पत्र पुराना वाला हीं हैं. इस बार माँग इमरान को इकोनॉमिक्स वाला पुरस्कार देने की हैं.

ताज़ा खबर- पाकिस्तान ने नोबेल इकोनॉमिक्स पुरस्कार वाला पत्र वापस कर लिया हैं. पता चला हैं की पत्र सुधार किया जायेगा. फिर इसे दोबारा नोबेल कमिटी को भेजा जायेगा जिससे दावेदारी और मजबूत होगी. पत्र में मुर्गियों, बकरियों के अलावा गधे भी जोड़े जायेंगे. आखिर वो आज-कल सबसे बड़े निर्यात हैं. पाकिस्तान लोन चुकाने के लिए उन्हीं का निर्यात करता चीन को .