Saturday, 21st September, 2019

नोकिया ने चीन में पहले लॉन्च किया अपना नया फोन, भारत में जबरदस्त विरोध

10, Jan 2017 By Tarun Vyas

लुमिया की मौत को एक साल भी नहीं हुआ कि, नोकिया कंपनी ने एंड्राइड मोबाइल लॉन्च कर सभी को अचम्भित कर दिया है। अखिलेश और मुलायम की बगावत के बाद नोकिया की विंडोज के साथ, दूसरी विश्व के इतिहास की सबसे बड़ी बगावत है, नोकिया ने माइक्रोसॉफ्ट का साथ छोड़ दिया था। परंतु दोस्ती और मम्मी की कसम  के खातिर नोकिया ने फोन बनाना बंद कर दिया था, पर अब हालात बदल गए हैं। नोकिया ने अपना नोकिया 6 लॉन्च कर दिया है परंतु भारत में इसका विरोध होना शुरू हो चुका है।

अपने नॉन-नोकिया फ़ोन के साथ पोज़ देते हुए प्रोटेस्टर्स
अपने नॉन-नोकिया फ़ोन के साथ पोज़ देते हुए प्रोटेस्टर्स

भारत में चीन विरोधी मौहोल के बीच नोकिया ने सबसे पहले ये फोन चीन में लॉन्च किया है, जबकि सबसे ज्यादा प्यार नोकिया को भारत ने दिया। इसी के तहत सभी “देशभक्त” जो कल तक नोकिया 1100 चलाते थे, आज उनमें विद्रोह की भावना भड़क उठी है। हमारे रिपोर्टर तरुण ने जब स्थिति का जायजा लिया तो पाया कि लोग नोकिया के खिलाफ रैलियां निकाल रहे हैं।

रिपोर्टिंग के दौरान एक रैली निकल रही थी, जिसमे नारे लग रहे थे “नोकिया तूने क्या किया, चीन में लॉन्च कर रुला दिया”, रैली में कुछ लोग डीजे पर “दोस्त दोस्त ना रहा” गाने बजा रहे थे। इस विरोध की वजह से कई जगह हादसे भी हुए, जोधपुर जिले में कुछ लोग नोकिया के फ़ोन्स को जमीन पर फेंक विरोध जाहिर कर रहे थे पर फ़ोन टूटने के बदले ज़मीन में छेद हो गया।

हमारे पत्रकार ने जब रैली में मौजूद मुन्ना बजरंगी से बात की तो उसने कहा, “देखिये हमने नोकिया को इतना प्यार दिया, बदले में उसने हमको धोखा दिया है। वो चीन, पाक का साथ देता रहता है और नोकिया को पूरे विश्व में चीन ही एक देश मिला जहाँ उसको अपना इस्टरमाट फोन लॉन्च करना था, इसका बदला जरूर लेंगे।” और फिर आवेश में आकर उसने एक नारा लगाया “नोकिया नहीं तू चु*** है, देश के गद्दारो में तेरा नाम जोड़ दिया है”

अब देखना ये है की नोकिया यहाँ के लोगों की भावना को समझ, जल्द से जल्द एक्शन लेता हैं कि नहीं।