Wednesday, 19th December, 2018

RBI से ₹ 3.6 लाख करोड़ लेकर आगामी चुनावों के बाद MLA खरीदेगी सरकार, RTI से खुलासा

16, Nov 2018 By Fake Bank Officer

नयी दिल्ली. आखिर क्यों सरकार की नज़र भारतीय रिज़र्व बैंक के 3.6 लाख करोड़ रुपयों पर है इस बात का खुलासा अब RTI के माध्यम से हुआ है। वित्त मंत्रालय ने एक RTI के जवाब में यह बताया है कि आगामी विधानसभा चुनावों और 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर सरकार को बड़े पैमाने पर विधायको और सांसदों की खरीद करनी पड़ सकती है और इसी लिए सरकार RBI से यह छोटी सी मदद चाहती है।

अरुण जेटली जी गुरुजी के पास से टिप्स लेते हुए
अरुण जेटली जी गुरुजी के पास से टिप्स लेते हुए

सुप्रसिद्ध RTI कार्यकर्ता गणपत सवालकर ने फ़ेकिंग न्यूश को बताया कि यह सवाल काफी दिनों से उसके मन मे था कि आखिर सरकार को इतने पैसे की ज़रूरत क्यों पड़ गयी। “पहले मुझे लगा कि शायद सरकार कोई स्टेच्यू बनाने या मोदी जी को अंतरिक्ष की सैर करने जैसे फ़िज़ूल कामो के लिए RBI के पीछे पड़ी है लेकिन RTI से सब साफ हो गया।”

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी इस बात की पुष्टि करते हुए फ़ेकिंग न्यूश को बताया कि मोटा भाई की नज़र काफी समय से RBI की बैलेंस शीट पर थी। “बात यह है कि वर्तमान हालात में आगामी चुनावों में पार्टी को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है और ऐसे में सरकार बनाने के लिए हमे बड़े पैमाने पर विरोधी दलों के विधायकों और सांसदों की खरीद फरोख्त करनी पड़ सकती है। ऐसे में रिज़र्व बैंक की बैलेंस शीट में जो पैसा पड़ा पड़ा जंग खा रहा है वह देश हित मे काम आ सकता है।”

“आप तो जानते ही हैं कि निर्दलीय विधायक भी आजकल पचास करोड़ से कम में नही मानता, मंत्री का पद मांगता है सो अलग। 3.6 लाख करोड़ रुपये तो यूं चुटकी बजाते ही खर्च हो जाएंगे। ऐसे में सरकार सारा बोझ करदाताओं पर नही डाल सकती। RBI को खुद आगे आकर सरकार के साथ सहयोग करना चाहिए। “जेटली जी ने बात पूरी की।हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मोटा भाई की वजह से वित्त मंत्रालय का नाम जबरन खराब हो रहा है जबकि RBI का यह पैसा किसी भी सरकारी कार्य मे खर्च नही किया जाएगा।