Wednesday, 23rd October, 2019

सबरीमाला के बाहर विरोध कर रहे भक्तो को बॉर्डर पर भेजेगी सरकार: कश्मीर की करेंगे रक्षा

31, Dec 2018 By Fake Bank Officer

तिरुअनंतपुरम. सबरीमाला मंदिर के बाहर काफी दिनों से महिलाओं के प्रवेश के विरोध में प्रदर्शन कर रहे श्रद्धालुओं की प्रतिभा को अंततः भारत सरकार ने पहचान लिया है। जिस तरह से ये भक्त भूख, प्यास, सर्दी, बारिश, पुलिस के डंडे आदि सब सहन करते हुए 10-50 आयु वर्ग की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश करने से रोक रहे हैं उसे देखते हुए सरकार ने फैसला किया है कि इन प्रदर्शनकारियों को पाकिस्तान बॉर्डर पर नियुक्त किया जा सकता है ताकि वहां से होने वाली घुसपैठ को रोका जा सके।

कश्मीर के लिए दी जा रही है ख़ास ट्रैनिंग
कश्मीर के लिए दी जा रही है ख़ास ट्रैनिंग

भारतीय सेना के सूत्रों ने बताया कि कठिन परिस्थितियों में डटे रहने की जो क्षमता इन श्रद्धालुओ में है, सेना उसे सलाम करती है। “इन लोगो को बॉर्डर पर भेजने से देश की रक्षा यो होगी ही, इन बेरोजगारों को भी कुछ काम मिल जाएगा। फिर इनको रोकने के लिए जो पुलिस बल सबरीमाला में तैनात किया गया है उसे भी जनता की सेवा में लगाया जा सकेगा।” आर्मी की कैंटीन से सामान ले रहे अज्ञात सूत्रों ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया।

श्रद्धालुओ की सेना में होने वाली इस  भर्ती की खबर पर भगवान अयप्पा ने भी खुशी जाहिर की है। पुजारी के माध्यम से उन्होंने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि 24 घंटे खुद  को पुलिस और भक्तो से घिरा पाकर उनका जी घबराने लगा था। ऊपर से उनकी प्राइवेसी की भी ऐसी तैसी हो गयी थी। उन्होंने भक्तो से गुहार लगाई है कि उन्हें उनके हाल पर छोड़ दे और सियाचीन जाकर देश की रक्षा करें।

उधर सरकार की इस घोषणा के बाद मंदिर के बाहर से भीड़ छटने लगी है। अधिकांश श्रद्धालु अपने काम धंधों पर लौटने लगे है और भक्तो ने भगवान कि रक्षा से पहले स्वयं की रक्षा की चिंता शुरू कर दी है।