Sunday, 21st July, 2019

स्टैचू ऑफ़ यूनिटी के बाद अब बनेगा स्टैचू ऑफ़ केसरी, मोदी बनवायेंगे सीताराम केसरी की मूर्ती

19, Nov 2018 By Ranjan

देश के कई राज्यों में चुनावों की सरगर्मियां तेज हो गई हैं और राजनितिक पार्टियों के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। ऐसे में जहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले सरदार पटेल का नाम ले कर प्रथम प्रधानमंत्री नेहरु की गलतियाँ गिनाते थे वहीं इस बार उन्होंने कांग्रेस के ही पूर्व अध्यक्ष सीताराम केसरी के बहाने सोनिया गांधी पर निशाना साधा है।

सरदार के पटेल के बाद सीताराम केसरी का नाम प्रधानमंत्री मोदी द्वारा लिए जाने के बाद अब खबर आई है की जिस प्रकार से सरदार पटेल की मूर्ती ‘स्टैचू ऑफ़ यूनिटी’ का निर्माण कर के मोदी ने कांग्रेस पार्टी के पहले पीएम नेहरू पर निशाना साधा था ठीक उसी प्रकार ‘स्टैचू ऑफ़ केसरी’ बना कर सोनिया गांधी पर निशाना साधा जाएगा।

सरकार के इस निर्णय को कई लोगों ने प्रसंशनीय बताया है तो कई लोगों ने इसकी आलोचना भी की है। जहाँ वामपंथी दलों ने ‘सीताराम’ केसरी की मूर्ती बनाने को कम्युनल एक्ट बताया है वहीं मायावती ने इस मामले पर कहा है की सोनिया गाँधी ने यूपीए सरकार के दौरान उनके पीछे सीबीआई लगवा कर उनके साथ भी बुरा किया था इसलिए सीताराम केसरी की तरह प्रधानमंत्री मोदी को उनकी भी मूर्ती बनानी चाहिए। इस दौरान मायावती ने अपनी मूर्ती का नाम ‘स्टैचू ऑफ़ बहन जी’ रखने का सुझाव भी दिया है।

बहरहाल इस पूरे मामले पर बॉलीवुड से भी कई लोगों ने अपनी टिप्पणी की है। बॉलीवुड के सुप्रसिद्ध अभिनेता अजय देवगन ने कहा की मैं तो ‘केसरी’ का सबसे बड़ा फैन हूँ, मेरा तकिया कलाम ही “जुबां केसरी” है। इसलिए मैं सरकार के इस निर्णय का खुले दिल से स्वागत करता हूँ।



Related