Wednesday, 20th March, 2019

उर्जित पटेल ने किया इस्तीफे के निजी कारण का खुलासा

24, Dec 2018 By Naveen Choudhary

जहाँ एक तरफ ट्विटर, फेसबुक, मीडिया सब उर्जित पटेल के इस्तीफे को लेकर अलग-अलग कयास लगा रहे हैं वहीं उर्जित पटेल ने जनता स्टोर उपन्यास के लेखक एवं फेकिंग न्यूज़ संवाददाता नवीन चौधरी से बात कर के असल राज जाहिर कर दिया है. उर्जित पटेल ने इस विषय पर दिल खोल कर कहा है और हम उसे वैसा का वैसा ही आपको बता रहे हैं.

राजन के इस्तीफे के बाद से सब मान रहे थे की उर्जित पटेल मोदी जी के बहुत खास हैं और जो चाहें कर सकते हैं. अमित शाह से हो रही उनकी मीटिंगों से ऐसा माहौल बना कि घर में होने वाली किसी भी खटपट पर पटेल की बीवी मॉर्निंग वॉक पर जाना कुछ दिनों के लिए स्थगित कर देती थी.urjit patel

उर्जित पटेल के जीवन में इस दिवाली तक सब ठीक चल रहा था लेकिन दिवाली की सफाई में 1000 रुपये के कई नोट उनकी बीवी को अपने पुराने गुच्ची के ड्रेस की जेब में मिली. आरबीआई गवर्नर की बीवी होने के नाते वो निश्चिन्त थी कि ये नोट तो घर आकर कोई बदल जायेगा. ऐसा न होने पर उन्होंने श्री पटेल पर दबाव बनाना शुरू किया.

श्री पटेल ने इस विषय पर मोदी जी व्यस्त 18 घंटों में से 15 मिनट निकाल कर चर्चा की और उनसे मदद मांगी. मोदी जी भले ही देश की नब्ज पकड़ चुके हों पर एक शादीशुदा आदमी की व्यथा न समझ पाए. मोदी जी ने ईमानदार सरकार का हवाला देते हुए नोट बदलने से उर्जित पटेल को साफ़ मना कर दिया. उर्जित पटेल ने इस विषय पर शाह समेत अनेक नेताओं से मदद मांगी पर उन्हें सहानुभूति के सिवा कुछ न मिला.

पटेल ने सुषमा स्वराज को भी ट्वीट क्र इस विषय पर मदद मांगी. सुषमा जी ने ट्वीट पढने के बाद बयान जारी किया कि वो स्वस्थ्य कारणों से शायद अगला चुनाव न लड़ें. थके हारे पटेल ने बीवी को समझाने की यथासम्भव कोशिश की लेकिन बीवी ने उन्हें मोदी से करीबी का वास्ता दिया.

उर्जित पटेल इसके बाद से मोदी को समझाने के हर प्रयास कर चुके. गोदी मीडिया में पटेल की मदद की खातिर सरकार और उनके बीच की खटपट की ख़बरें भी बना दी, लेकिन पटेल की बीवी सिकुलर चैनल देखा करती थी. दिवाली गुजरने के इतने दिनों बाद बीवी और मोदी दोनों को समझाने में नाकाम रहने पर उर्जित पटेल ने इन निजी कारणों से इस्तीफ़ा देने का निर्णय लिया.

पटेल की आने वाली किताब ‘I don’t do, what my wife do’ में इस मामले को पटेल और विस्तार से समझायेंगे. तब तक बने रहिये फेकिंग न्यूज़ के साथ.