Monday, 25th June, 2018

आसाराम केस में कांग्रेस और बीजेपी की एकता देख पार्टी कार्यकर्ता बेहोश

22, May 2018 By aashcharya janak

नयी दिल्ली. आज आसाराम बापू को उम्रकैद की सज़ा सुनाई गयी। इससे देश में मुख्यतः ख़ुशी का माहौल है, जबकी उनके समर्थक दुःख में डूब गए हैं। वहीं बीजेपी और कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता पशोपेश में पड़ गए हैं की खुश हों या दुःखी।

इसका कारण मशहूर न्यूज़ चैनेलों द्वारा केस में हुए कुछ महत्वपूर्ण खुलासे हैं। आसाराम की ज़मानत याचिका कोर्ट ने 12 बार ख़ारिज की। इस दौरान काफ़ी बड़े वकीलों ने आसाराम का केस कोर्ट में पेश किया। जो प्रमुख नाम सामने आये हैं उनमें पूर्व बीजेपी नेता राम जेठमलानी, यूपीए सरकार में विदेश मंत्री रहे सलमान ख़ुर्शीद, और बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी शामिल हैं। जी हाँ ! आपने ठीक पढ़ा ! इन्होने पिछले कुछ सालों में अदालत में आसाराम का केस पेश किया था।

यह पहला मौका है जब बीजेपी और कोंग्रेसी नेता एक साथ एक उद्देश्य पर साथ काम करते दिखे हैं।

इससे पार्टी कार्यकर्ताओं में हड़कंप मच गया है। उन्हें समझ नहीं आ रहा की ऐसा कैसे हो गया की बीजेपी और कांग्रेस एक बात पर सहमत हो गए। एक बीजेपी कार्यकर्ता इस खबर से रक्तचाप बढ़ने के कारण बेहोश हो गया। इस कारण कार्यालय में चाय बहार से मंगवानी पड़ी।

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे लोकतंत्र पे ख़तरा बताते हुए बोला: “मैंने तो पहले ही कहा था। सब के सब मिले हुए हैं!”