Thursday, 20th September, 2018

बिप्लब देब की बातों से परेशान सरकार ने त्रिपुरा को हटाया नक्शे से, बना स्वतंत्र राष्ट्र

30, Apr 2018 By Fake Bank Officer

नई दिल्ली. त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब के रोजाना आने वाले बेबाक बयानों के चलते भारत सरकार और खासकर बीजेपी को बड़ी असुविधाजनक स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे बयानों से अपना पल्ला झाड़ने के लिए ही अब सरकार ने यह फैसला किया है कि त्रिपुरा को भारत के नक्शे से हटाकर एक स्वतंत्र राष्ट्र का दर्जा दे दिया जाए।

त्रिपुरा CM
अपने राज्य का साइज़ बताते बिप्लब जी!

बिप्लब के एक के बाद एक उटपटांग बयानों के चलते कल भाजपा के बड़े नेताओ की गृह मंत्रालय के साथ आपातकालीन बैठक का आयोजन किया गया। राजनाथ सिंह ने मामले की गंभीरता को देखते हुए अन्य नेताओं से सलाह मांगी कि इस ‘बिप्लब’ का क्या किया जाए?

किरण बेदी ने सुझाव दिया कि क्यों ना वहाँ राष्ट्रपति शासन लगा दिया जाए। इस सुझाव को तुरन्त ही राजनाथ सिंह ने यह कहकर नकार दिया-” अरे अपनी ही पार्टी सत्ता में है तो कोई राष्ट्रपति शासन लगाता है क्या! कुछ तो सोच समझ कर बात किया करो!”

उसके बाद फिर काफी देर तक सब लोग सोचते रहे। फिर अचानक ही अमित शाह बोल पड़े-” क्यों ना त्रिपुरा को एक स्वतंत्र राष्ट्र बनाकर भारत के नक्शे से ही हटा दिया जाए! एक बार त्रिपुरा भारत से अलग हो जाएगा तो फिर बिप्लब चाहे जितनी बकवास करें, उससे देश या पार्टी की छवि खराब नही होगी!” यह आईडिया सुनते ही राजनाथ सिंह उछल पड़े और उन्होंने ‘शाह’ को गले लगा लिया।

इस मीटिंग के बाद भारत सरकार ने एक नोटिफिकेशन निकाल कर त्रिपुरा को स्वतंत्र राष्ट्र का दर्जा दे दिया है।

इसी बीच जब बिप्लब को इस निर्णय का पता चला तो तुरंत ही उन्होंने स्वयं को नये देश का प्रथम राष्ट्रपति और महाभारत टीवी सीरियल के गाने को अपना राष्ट्रगान घोषित कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने एलान किया है कि त्रिपुरा में सिर्फ सिविल इंजीनियर ही सरकारी नौकरी कर पाएँगे। बाकी सब जाकर पान की दुकान खोलें।