Thursday, 15th November, 2018

Presentation के दौरान "Can you please go back to previous slide ?" नहीं पूछे जाने पर employee ने किया सुसाइड

04, Oct 2018 By Rupesh Yadav

बेंगलुरु. भारतीय Silicon Valley कहे जाने वाले इस शहर में लोगो का Microsoft PowerPoint से रिश्ता देखते ही बनता है, जहाँ Boss को अपनी बीवी की शकल से ज्यादा employees की पीपीटी देख के सुकून मिलता है | पर कल कुछ ऐसा हुआ जिसे हर आईटी employee एक बुरा सपना सोच कर भूल जाना चाहता है|

जब हार्ट अटॅक लाने की कोशिश भी बेकार रही तो अपनाना पड़ा आत्म-हत्या का रास्ता
जब हार्ट अटॅक लाने की कोशिश भी बेकार रही तो अपनाना पड़ा आत्म-हत्या का रास्ता

28 वर्षीय छगन ने ऑफिस के presentation में “Can you please go back to previous slide” ना पूछे जाने पर सुसाइड कर लिया | सूत्रों के अनुसार छगन ने काफी मेहनत से अपना लम्बा वीकेंड बर्बाद कर ये presentation तैयार किया था वो भी बिना गूगल का इस्तेमाल किये | जब सोमवार सुबह छगन मीटिंग रूम में घुसा तो काफी कॉंफिडेंट था हमेशा की तरह | Presentation थोड़ी देर से शुरू हुआ क्युकी बॉस को आने में थोड़ा विलम्भ था, अपना Access कार्ड घर भूल आये थे | रूम में लगभग 7 से 8 लोग थे और सभी ध्यान से छगन को सुन रहे थे | शुरू के कुछ मिनट्स तक तो ठीक था, छगन काफी कुशलता पूर्वक slides समझाते जा रहा था | उसे झटका suttaa break में लगा जब Srinivasan ने याद दिलाया की – “भाई,presentation में अभी तक बैक बटन use ही नहीं हुई ” |

Break के बाद छगन के चेहरे पे अब दबाव साफ़ नज़र आ रहा था | पर उसने हिम्मत से साथ presentation ज़ारी रखा इस उम्मीद में की कोई न कोई तो Previous Slide पूछेगा | पर ऐसा नहीं हुआ, 45 मिनट्स तक चली इस presentation के बाद छगन पसीने से लथ पथ हो चूका था | रूम के बाहर चारो तरफ लोग खुसुर फुसुर कर रहे थे | छगन ने बिना किसी से बात किये लैपटॉप उठाया और घर चला गया | अब उसका खुद पर से भरोसा उठ रहा था की ऐसा गलत कर दिया मैंने presentation में एक ने भी नहीं टोका | क्या मैंने font साइज सही रखा था? graphs में कलर ज्यादा हो गए थे ? क्या मेरे appraisal पे फर्क पड़ेगा ? ये सब खयालो से परेशान वो बालकनी की तरफ बड़ा पर फिर एहसास हुआ की उसका पहला फ्लोर ही था और वापस अंदर आ गया | उसे लग रहा था की उस से बड़ा लूज़र कोई नहीं ऑफिस में, अब वो कैसे सबका सामना करेगा | इतना सोचते सोचते उसने अपने ID कार्ड के बेल्ट को पंखे पर डाला और लटक गया |

सुबह पड़ोसियों से पता चला और पुलिस को इन्फॉर्म किया गया, घर वालो को सूचित कर दिया गया है | शोक में कंपनी ने एक दिन का वर्क फ्रॉम होम दे दिया सबको |